Epic क्या होता है? Epic नंबर क्या होता है?

0
53
Epic kya hota hai Epic number क्या है
Epic kya hota hai Epic number क्या है

Epic क्या होता है?:–

Epic kya hai epic number kya hai
Epic kya hai epic number kya hai

नमस्कार दोस्तों! क्या आप लोग Epic नंबर को जानते है? नहीं जानते तो मै आप सभी को Epic  क्या है? और Epic नंबर क्या है?इसके बारे में पुरा विस्तार से जानकारी दूंगा।

हमारे देश भारत में वयस्क होने की उम्र 18 मानी गई है।और हमारे देश में तभी एक पुरुष और स्त्री वयस्क होते जब वे 18 साल के हो जाते। तब उन्हें मतदान के लिए भी वयस्क माना जाता है। हमारे देश में 18 साल के सभी नागरिकों को वोट देने का पूर्ण अधिकार है। इसलिए हम सभी को चाहिए कि भारत के सभी नागरिकों को voter list में अपना नाम दाखिल करवाना चाहिए। लोकतंत्र में मिले सबसे बड़े अधिकारो का उपयोग करना चाहिए। Epic को पहचान पत्र कहते है इसका काम मतदान और कई योजनाओं में उपयोग किया जाता है। voter ID को शॉर्ट भाषा में Epic कहते है।
 
Epic नंबर क्या होता  है:—
Epic का पूरा नाम Election photo Id card है। जो हम आप सभी को वोटर कार्ड दिया जाता है वो। इसको आपको और हमारी भाषा में मतदाता पहचान पत्र कहते है। जिसको सभी लोग वोट देने के समय ले जाते है।
 
आपके पहचान पत्र में काले मोटे बड़े अक्षर में एक नंबर लिखा होता है। जिसे हम Epic number कहते हैं। जो भारत के सभी नागरिकों के पहचान पत्र पर अलग अलग नंबर होते है। यही Epic नंबर कहलाता है। ये नंबर इंग्लिश शब्द के कैपिटल अक्षर में और अंक में होता है। यही पहचान पत्र का सबसे महत्वपूर्ण नंबर है। जब आप पहचान पत्र बनेगा तब आपको पुरा इसके बारे में पता चलेगा। पहचान पत्र आपकी identity को बताता है कि भारत देश के है और आपका नाम xyz है। पहचान पत्र आपके लिए बहुत उपयोगी है। पहले सिम कार्ड लोगो के पहचान पत्र से ही खुलता था। लेकिन तकनीक के चलते अब आधार कार्ड से खुलता है।
 
पहचान पत्र (Epic):–
भारतीय मतदाता पहचान पत्र भारत के वयस्क अधिवासियों के लिए भारत निर्वाचन आयोग द्वारा जारी एक पहचान दस्तावेज है, जो 18 वर्ष की आयु तक पहुंच गया है, जो मुख्य रूप से देश के नगरपालिका, राज्य में अपना मत डालते समय भारतीय नागरिकों के लिए एक पहचान प्रमाण के रूप में कार्य करता है,  और राष्ट्रीय चुनाव।  यह अन्य उद्देश्यों जैसे मोबाइल फोन सिम कार्ड खरीदने या पासपोर्ट के लिए आवेदन करने के लिए सामान्य पहचान, पता और आयु प्रमाण के रूप में भी कार्य करता है।  यह भूमि या वायु द्वारा नेपाल और भूटान की यात्रा करने के लिए एक यात्रा दस्तावेज के रूप में भी कार्य करता है 
  •  इसे चुनावी फोटो पहचान पत्र (EPIC) के रूप में भी जाना जाता है। यह पहली बार 1993 में मुख्य चुनाव आयुक्त TN sheshan के कार्यकाल के दौरान पेश किया गया था।
  • हालाकि अब पहचान पत्र की जरूरत कम हो गई है लेकिन चुनाव और अन्य जगहों पर पहचान पत्र की जरूरत होती है।

Epic का महत्वपूर्ण योगदान:—-

आज हमारे जीवनकाल में आधार कार्ड ही जैसे जरूरी है। वैसे पहले पहचान पत्र की भी बहुत बड़ी माग थी समय बदलता गया technology update होता गया और आधार कार्ड आ गया जब हमारा देश आजाद हुआ तो हमारे देशवासियों के अपने पहचान के लिए कुछ नहीं था। लेकिन अब तो 1 साल बच्चे के भी पास पहचान वह भारत देश का है उसके माता पिता कौन है और बहुत सी जानकारी होती हैं। धीरे धीरे सरकार ने इन सभी नागरिकों को अपना पहचान दिया।। पहचान पत्र से ही सारे काम किए जाते थे। लेकिन आज हम अपग्रेड हो गए हैं और technology का पूरा उपयोग कर रहे हैं। पहचान पत्र से आज भी नेपाल जैसे देशों में लेकर जा सकते है। ये अब लेकिन वोट देने के लिए ही काम आता है

 

Click here

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here